गुरुवार, 20 नवंबर 2014

चुहुल - 68

(१)
एक आदमी सड़क पर चिल्लाता जा रहा था, ये सरकार निकम्मी है. पुलिस वाले ने सुना और उसे पकड़ कर थाने ले गया. थाने में ले जाकर सरकार के खिलाफ बगावती बातें करने के आरोप में उसकी ताजपोशी की जाने लगी तो वह अपनी सफाई में बोला, मैं तो ब्रिटिश सरकार के खिलाफ नारे लगा रहा था.
इस पर थानेदार ने उसकी पिटाई करते हुए कहा, साले, तू झूठ बोल रहा है. हमको भी मालूम है कि कौन सी सरकार निकम्मी है.

(२)
एक नौसिखिया आशिक अपने ही स्कूल की जूनियर कक्षा की लड़की से मेलजोल बढ़ाने में कामयाब हो गया, पर प्यार का इजहार नहीं कर पा रहा था. एक दिन मौक़ा पाकर उससे बोला, जब से तुमसे मुलाक़ात हुई है, ना जाने मुझे क्या हो रहा है नींद कम आती है, भूख भी कम लगती है, और पढ़ाई में बिलकुल मन नहीं लगता है. क्या करना चाहिए?
लड़की चिंतित होकर बोली, भैय्या, तुम आज ही किसी सायकायट्रिक को दिखाओ. मेरी माँ सही कह रही थी कि तुम्हें कोई बीमारी है.

(३)
अध्यापक दो में से दो गये तो क्या बचा?
विद्यार्थी सर, मैं समझा नहीं?
अध्यापक इस तरह समझो कि तुम्हें खाना दिया गया, जिसमें दो रोटिया हैं, वे दोनों  ही तुमने खाली, तो क्या बचा?
विद्यार्थी सब्जी बचेगी सर.

(४)
दस वर्षीय नेहा पिछली छुट्टियों में अपनी मौसी के घर गयी. मौसी ने रसोई में जाने से पहले नेहा से पूछ लिया नेहा, तुम कितनी रोटिया खाती हो?
नेहा ने बड़े भोलेपन से जवाब दिया, वैसे तो मैं तीन रोटियाँ खाती हूँ, सब्जी अच्छी लगे तो चार खा लेती हूँ, लेकिन अगर कोई नहीं देख रहा हो तो पांच रोटियां भी खा लेती हूँ.

(५)
तीन जिगरी दोस्त हैं: चिंटू, मिंटू और छोटू. उम्र क्रमश: 12, 10 और 8 साल. एक दिन इन तीनों ने प्रोग्राम बनाया कि बड़ों की ही तरह अपन भी पिकनिक मनाने चलें. तीन बोतल कोल्ड ड्रिंक शाम को ही खरीद कर रख ली, आज हलवाई की दूकान से 6 समोसे खरीदे और चल पड़े
पार्क काफी दूर था, वहां जाकर याद आया कि कोल्ड ड्रिंक तो घर ही रह गया. अब घर जाकर कौन लाये? तय हुआ कि लो सबसे छोटा है वह जाकर लेकर आयेगा. छोटू ने कहा, मैं इस शर्त पर जाऊंगा कि मेरे आने तक तुम समोसे नहीं खाओगे.
ठीक है, दोनों ने कहा.
छोटू का इन्तजार करते करते एक घंटा, दो घंटे, और तीन घंटे बीत गए, छोटू नहीं दिखा. अब तो घर लौटने का समय भी हो चला था तो चिंटू ने मिंटू से कहा यार, अब तो भूख भी लग आई है, छोटू आने वाला नहीं लगता है, चलो समोसे खा लेते हैं.
जैसे ही उसने समोसे का पैकेट खोला तो झाड़ी के पीछे से छोटू निकल कर आया और बोला, अगर तुम लोग ऐसी बेईमानी करोगे तो मैं कोल्ड ड्रिंक लेने जाऊंगा ही नहीं.
***  

4 टिप्‍पणियां:

  1. आपकी यह उत्कृष्ट प्रस्तुति कल शुक्रवार (21.11.2014) को "इंसान का विश्वास " (चर्चा अंक-1804)" पर लिंक की गयी है, कृपया पधारें और अपने विचारों से अवगत करायें, चर्चा मंच पर आपका स्वागत है।

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत बढ़िया प्रस्तुति ..

    उत्तर देंहटाएं